Left over ghee residue

Left over ghee residue

जब मक्खन से हम घर पर घी निकलते हैं तो जो भाग तली में मलाई जैसा बच जाता हैं. उसे कुछ लोग मावा (left over ghee residue) भी कहते हैं मेरे घर में उसे खुजड़ी कहते है. क्यूंकि खुजड़ी ज्यादा नही निकलती. इसलिए मेरे मम्मी तो उसका पराठा या फिर खुजड़ी (left over ghee residue sabzi) में चीनी डाल कर हमें ऐसे ही खाने को दे देती थी.

मुझें उसका खट्टा मीठा स्वाद अच्छा लगता था. पर शादी के बाद पहली बार मैंने अपने ससुराल में इसकी सब्जी खायी. जिसे खाने के बाद मेरा बता पाना मुश्किल हो गया की ये किस चीज़ की सब्जी हैं. और जब मुझें पता चला ये खुजड़ी की सब्ज़ी (left over ghee residue sabji) हैं. तो मैं इसकी रेसिपी पूछे बिना रह नही पायी.

खुजड़ी की सब्ज़ी इतनी स्वादिष्ट थी की आज भी जब मैं उस सब्ज़ी का नाम लेती हूँ तो मुझें उसका स्वाद याद आने लगता हैं. अगर घर में खुजड़ी रखा हो तो हम इसे किसी मेहमान के आने पर तुरंत बना सकते हैं. ये सब्ज़ी स्वादिष्ट के साथ साथ बहुत कम समय में बन जाती हैं. अगर आपके पास समय की कमी हो तो आप खुजड़ी की सब्जी (ghee residue sazi in hindi) फटाफट 10 मिनट में बना सकते हैं.

खुजड़ी के फायेदे (Health Benefit of left over ghee residue)

  • (khujdi) खुजड़ी में कैल्शियम होता है, जो हमारे हड्डीयों को मजबूत बनाता हैं.
  • इससे माइग्रेन या सर दर्द की परेशानी दूर हो जाती हैं.
  • खुजड़ी कैंसर होनें की संभावना को कम करता हैं.
  • इससे ब्लड प्रेशर नार्मल रहता हैं.

आवश्यक सामग्री – Ingredients for left over ghee residue sabji

  • खुजड़ी (left over ghee residue) —- 100 ग्राम
  • देसी घी —- 2 से 3 मध्यम चमच्च
  • सौफ़ —- ¼ मध्यम चमच्च या ½ छोटा चमच्च
  • राई —- ¼ मध्यम चमच्च या ½ छोटा चमच्च
  • जीरा —- ¼ मध्यम चमच्च या ½ छोटा चमच्च
  • प्याज़ –— 2 (कटे हुये)
  • टमाटर —- 2 (कटे हुये)
  • हरी मिर्च —- 1 या 2
  • दूध —- 100 मिली लीटर (ml)
  • हल्दी —- ½ मध्यम चमच्च
  • नमक —- स्वाद अनुसार
  • सब्जी मसाला या गरम मसाला —- ½ मध्यम चमच्च
  • धनिया पाउडर —- ½ मध्यम चमच्च
  • लाल मिर्च —- ¼ मध्यम चमच्च

विधि – How to make left over ghee residue sabzi

Left over ghee residue sabji
(left over ghee residue sabzi) खुजड़ी की सब्ज़ी बनाने के लिए सब से पहले एक कड़ाही लें. उसे मध्यम आचं पे रख दे. जैसे ही कहाड़ी गरम हो जाये कड़ाही में देशी घी डाले. घी गरम होने पे कहाड़ी में जीरा, राई और सौफ़ डाले. जब जीरा तड़कने लगे तो इसमें कटी हुई प्याज़ और हरी मिर्च डाल कर चमचे से थोड़ा चलाये. प्याज़ को सुनहरा होने तक भूने.

प्याज़ जब सुनहरा हो जाए तो उसमें टमाटर डाले और कड़ाही को एक प्लेट से ढक दे. टमाटर गल जाने पर इसमें नमक, धनिया पाउडर, लाल मिर्च, गरम मसाला या सब्जी मसाला और हल्दी डाले. अब इस मसाले को तब तक भूने जब तक की तेल मसाले से अलग न हो जाए.मसाला अच्छे से भूनने के बाद उसमें खुजड़ी (ghee residue sabzi) डाले.

कड़ाही को 2 मिनट के लिए प्लेट से डक दे. 2 मिनट बाद प्लेट को हटा कर सब को अच्छे से मिला ले. फिर इसमें दूध डाले और इसे 1 से 2 मिनट तक चलते रहे. 2 मिनट बाद गैस की आंच बंद कर दें.

Left over ghee residue sabji is ready
गरमा गरम खुजड़ी की सब्जी (left over ghee residue sabji) खाने के लिए एक दम तैयार हैं. कटे हुये टमाटर से खुजड़ी की सब्ज़ी को गार्निश करे.

Please note (सुझाव) :

  • दूध डालने के बाद सब्ज़ी को ज्यादा देर न पकाए. अगर आप इसे ज्यादा देर पकाए गे तो दूध फट जाएगा. दूध डालने के बाद 1 से 2 मिनट चलाये और आंच बंद कर दे.

Also Read : Paneer tikka masala recipe

इस रेसिपी से जुड़े अगर आपको कोई सवाल पूछने हो तो, कमेंट सेक्शन में जा कर कमेंट करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *