chawal ka fara

 Chawal ka fara recipe

(Chawal ka fara recipe) चावल के आटे का फरा, गोझा या फिर पिठ्ठा (chawal ka fara) के नाम से इस डिश को जाना जाता है. ये डिश उत्तर भारत में बहुत बनाया जाता हैं. आम तौर पे लोग इस डिश को सुबह के नाश्ते में या फिर दोपहर के खाने में खाना पसंद करते है, इस डिश को या तो आलू टमाटर की सब्जी के साथ या फिर धनिया या पोदीने की चटनी के साथ खाया जाता है, कुछ लोग फरा (chawal ka fara) को गेहू के आटे के साथ भी बनाते है.

मुझे याद है बचपन में मेरी दादी चावल का फरा (chawal ka fara recipe in hindi) बनाती थी आज भी मुझे उनके हाथ के फरा (Fara) का स्वाद याद हैं. इस डिश को आप अपने बच्चो के टिफ़िन में भी दे सकते है और बच्चे इस डिश को काफी पसंद करते हैं. इस डिश में भरपूर मात्रा में protien पाया जाता हैं, क्यूंकि फरा या पिठ्ठा (chawal ka pitha) में चने के दाल का इस्तेमाल किया जाता है.

सुबह अगर आपने चावल का फरा (Fara recipe) नाश्ता में बनाया है और वह बच गया तो आप उसे शाम को प्याज और मसाले के साथ भी अच्छे से फ्राई कर के खा सकते है.

 फरा के फायदे ( Health Benefits of chawal ka Fara)

  • इस डिश में carbohydrade और protien पाई जाती है.
  • बनाने में आसान और स्वाद से भरपुर होता है.
  • अच्छे से डाइजेस्ट हो जाता है.
  • इस डिश से हमे एनर्जी भी प्राप्त होती है.

आवश्यक सामग्री – Ingredients for chawal ka fara / chawal ka pitha

  • चने की दाल —- 2 छोटी कटोरी
  • चावल का आटा —- 3 छोटी कटोरी/ कप
  • हरी मिर्च —- 4
  • धनिया पत्ती —- 1/2 छोटी कटोरी (कटी हुयी)
  • लहसुन —- 5-6 कली
  • जीरा — -1/2 छोटी चम्मच
  • हल्दी —- 1/2 छोटी चम्मच
  • तेल —- 2 छोटी चम्मच
  • नमक —- 1/2 चम्मच(स्वाद अनुसार )
  • राई —- ½ छोटा चमच्च
  • करी पत्ता — 8 से 10

विधि – method to make chawal ka fara, gojha or pitha

chawal ka fara - image 1

(chawal ka fara recipe) फरा बनाने के लिये सबसे पहले आप 2 कटोरी चने की दाल को रात में भिगों ले अगर आप रात में भिगोना भूल गए हैं तो भी घबराने की कोई बात नही है आप फरा बनाने से 4 घंटे पहले गरम पानी में चने की दाल को भिगों सकते हैं.

जब चना दाल अच्छे से फूल जाए तो उसमें हरी मिर्च, जीरा, लहसुन और धनिया पत्ती को अच्छे से मिला ले और मिक्सी में ½ कप या फिर जरुरत अनुसार पानी डाल के अच्छे से पीस ले. अब मिक्सचर को पिसने के बाद उसमें नमक और हल्दी डाल के एक बरतन में निकाल ले और एक तरफ रख दे.

एक कड़ाई ले और उसे मध्यम आंच पे रख दे, अब उसमे ½ कप पानी डाल दे. पानी जब गरम हो जाए तो उसमे 1 कप चावल का आटा डाल दे और फिर गैस की आंच को बंद कर दे. आंच बंद करने के बाद एक बड़े चम्मच से उसे अच्छे से मिला ले, जब वह अच्छे से मिल जाए तो उसे एक बड़े थाली में निकाल ले.

अब एक कप सूखा आटा उसी थाली में थोड़ा थोड़ा कर के डाल ले और फिर उसे अच्छे से गूथ ले जब तक की वह मुलायम ना हो जाए. जब आटा अच्छे से मुलायम हो जाए तो उस आटे की 4-5 बड़ी बड़ी लोई बनाले. अब लोई को रोटी के तरह बेल ले और फिर ग्लास या बड़े कटोरी से काट ले ताकि सब एक साइज़ के हो जाए.

chawal ka fara - image 2

कटे हुए छोटी रोटी में चने के दाल का मिश्रण थोड़ा थोड़ा चम्मच से डाल ले और रोटी को गुझियों की तरह मोड़े पर ध्यान रहे मोड़ने के बाद किनारे को एक दूसरे से चिपकाये नहीं (फरा को किस तरह मोड़ना हैं ये आप प्रोसेस को पिक्चर में देख सकते हैं) अब कड़ाई को मध्यम आंच पे गैस पर रख ले और उसमे ½ ग्लास पानी डाल ले जब पानी उबलने लगे तो जाली वाली थाली कड़ाई पे रख ले.

अपनी हथेली पर थोड़ा घी लगा ले ताकि फरा हाँथ में चीपके न, अब फरा (chawal ka fara recipe) या पिठ्ठा को जाली वाली थाली में अच्छे से रख ले और एक बड़ी थाली से उसे ढक ले. गैस की आंच तेज़ कर दे 8 से10 min बाद उसे चेक कर ले और अगर फरा अच्छे से पक जाए तो गैस बंद करके 5 min तक वैसे ही छोड़ दे.

अब आप का चावल फरा (chawal ka fara / gojha) तैयार है आप इसे टुकड़ो में काट ले, फरा को आप ऐसे भी चटनी के साथ खा सकते है या फिर राई, हरी मिर्च और करी पत्ते के साथ फ्राई कर ले और स्वादिष्ट फरा (chawal ka fara recipe) का मज़ा पुदीना चटनी के साथ ले.

Also Read : kanda poha

इस रेसिपी से जुड़े अगर आपको कोई सवाल पूछने हो तो, कमेंट सेक्शन में जा कर कमेंट करे.

4 Thoughts on “Chawal ka fara-चावल का फरा रेसिपी | Gojha Recipe – chawal ka pitha recipe”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *